“Sponsored Links”

मां सीता का ऐसा भव्य और चमत्कारी मंदिर, जहां बिना भगवान श्री राम के होती है मां की पूजा अर्चना,

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Karila Mata Mandir Ashoknagar दोस्तों आज के इस लेख के माध्यम से करीला पावन धाम माता मंदिर का आप लोग कैसे दर्शन कर पाएंगे तथा क्यों इतना चमत्कारी और प्रसिद्ध है मां सीता का यह Karila Mata Mandir इसके संबंधित सभी जानकारी आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मुहैया कराई जाएगी | अगर आप भी जानना चाहते हैं मां जानती का ऐसा भव्य मंदिर जहां भगवान श्री राम के बिना ही उनकी पूजा-अर्चना होती है | तो आप सही जगह पर आए हैं | पूरे भारतवर्ष में यह स्थान अपने आप में ही चमत्कारी और एक है | जिसका नाम है ” Karila Dham ”, आप अभी करीला मेला के मंदिर में जाकर दर्शन और अपने सभी मनकामनाओं को पूरा कर सकते हैं | कहां स्थित है करीला धाम जाने ?

इस पोस्ट के माध्यम से करीला धाम के संबंधित पूरी जानकारी साथी साथ करीला धाम मेला कब से शुरू होता है और आप को Karila Dham Mela किस प्रकार मेले में सम्मिलित होकर माता जानकी के दर्शन और आशीर्वाद पा सकते हैं नीचे संबंधित सभी जानकारियां चरणबद्ध तरीके से आपके लिए प्रस्तुत किए गए हैं |

Karila Mata Mandir Ashoknagar

Karila Mata Mandir Ashoknagar – Overview

स्थान का नामKarila Mata Mandir
मंदिर का नामकरीला माता मंदिर अशोकनगर, मध्य प्रदेश
स्थान का पूरा पताKarila Mata Mandir,Ashoknagar, Madhya Pradesh 473331
मेला लगने का समयरंग पंचमी
राज्य का नाममध्य प्रदेश
जिला का नामअशोकनगर
गूगल मैप लोकेशनयहां देखें
अशोकनगर से करीला धाम की दूरी35 किलोमीटर

Karila Mata Mandir अशोकनगर में स्थित है ?

Karila Mata Mandir:- जी हां दोस्तों मां जानकी धाम करीला माता मंदिर मध्यप्रदेश के प्रख्यात जिला अशोकनगर में स्थित है | वही अशोकनगर से मां जानकी मंदिर धाम 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | इसके तहत आप चाहे तो मध्य प्रदेश के विदिशा जिला से भी Karila Dham मंदिर के लिए प्रस्थान कर सकते हैं | जिसमें आपको सिर्फ 80 किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी | इन दोनों रास्तों की मदद से आप करीला धाम जाकर माता सीता के दर्शन कर सकते हैं और आसानी से करीला धाम मंदिर परिसर में पहुंचकर पूजा अर्चना था मैं मान सकते हैं | जहां आए दिन लाखों श्रद्धालु अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए आते रहते हैं |

करीला धाम का इतिहास? – ( Karila Mata Mandir )

दरअसल लोगों का यह मानना है कि प्रभु श्री राम और माता सीता द्वारा लंका विजय होने के उपरांत अयोध्या नगरी लौट आने के बाद मां सीता के ऊपर अयोध्या नगर वासियों ने लांछन लगाया | तत्पश्चात भगवान श्री राम ने माता सीता का त्याग किया | और मां सीता ने बाल्मीकि आश्रम में जाकर शरण लिया था | और Karila Mata Mandir मंदिर के पावन धरा पर लव कुश को जन्म दिया था | वही माता जानकी मंदिर का स्थान ऊंची पहाड़ियों के बीच बीच में स्थित है, जिसके नीचे एक बहुत ही खूबसूरत तालाब है जो मंदिर की सुंदरता को और बढ़ाता है |

कुछ मान्यताओं के अनुसार माता सीता के ऊपर लगाए गए लांछन के बाद माता ने बिहार के जिला पश्चिमी चंपारण स्थित वाल्मीकि नगर जंगलों में स्थित बाल्मीकि आश्रम में सरन लिया था, और वहां पर लव कुश का जन्म हुआ था |

Karila Mata Mandir का मेला रंग पंचमी के दिन मनाया जाता है वही इस दौरान लव कुश के जन्म उपरांत करीला माता की राई नृत्य बड़े ही धूमधाम के साथ किया जाता है | वही मेला उत्सव लगभग 1 महीने तक चलता है जिस में शामिल होने के लिए बड़े दूर-दूर से शब्द आते हैं | वही इस मेले का विस्तार लगभग 8 किलोमीटर दूरी में रहता है |

Karila Dham Mela 2022 मेला विवरण

Karila Mata Mandir:- मध्य प्रदेश राज्य की अशोकनगर जिले में स्थित करीला धाम मेला श्रद्धालुओं के बीच काफी प्रसिद्ध है | इस मेले का आयोजन होली के पंचमी महोत्सव पर शुरू होता है | रंग पंचमी के दिन शुरू हुए इस मेले का आयोजन लगभग 1 महीने तक रहता है | यह मेला दिन और रात दोनों मैं साथ निरंतर चलता रहता है |तथा इस मेले का फैलाव लगभग 8 किलोमीटर के दायरे में फैल जाता है |

Karila Dham Mela Ashoknagar : इस पावन धरा पर श्रद्धालु मां सीता, करीला माता के दर्शन करने के साथ-साथ यहां का श्रद्धालुओं द्वारा राई नृत्य किया जाता है | मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि करीला माता के पावन धरा पर राई नृत्य करने से मां जान के अधिक प्रसन्न होती हैं और भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं | इस पावन धरा पर पूरे भारतवर्ष से श्रद्धालु निरंतर आते रहते हैं |

|| Bageshwar Dham Sarkar Chhatarpur 2022: बागेश्वर धाम क्यों प्रसिद्ध है और कैसे जाएं, देखे संपूर्ण जानकारी ||

यहां प्रभु श्री राम के बिना ही मां सीता की होती है पूजा अर्चना

Karila Mata Mandir– दरअसल मान्यताओं के अनुसार इस स्थान पर मां सीता बिना राम के साथी आई थी इसलिए यहां मां जानकी की पूजा अकेले ही होती है | तथा इसी स्थान पर मां सीता ने लव कुश को जन्म दिया था | इसलिए इस पावन धरा का महत्व श्रद्धालुओं के बीच काफी रहता है | क्योंकि इस स्थान पर मां सीता का पूजा अकेले ही होता है | अगर आपको भी इस पावन धरा पर जाना है तो नीचे दर्द जानकारियों को अवश्य देखें |

Karila Mata Mandir

करीला धाम मंदिर जाने के सही मार्ग

  • मां जानकी kareli mata mandir जाने हेतु श्रद्धालुओं को सर्वप्रथम मध्यप्रदेश राज्य के अशोकनगर जिले में प्रस्थान करना होगा |
  • अशोकनगर जिले में पहुंचने के उपरांत आप वहां से रेगुलर चलने वाली संसाधनों से करीला धाम मंदिर जा सकते हैं |
  • वही अशोकनगर जिले से करीला धाम मंदिर लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |
  • अगर आप भोपाल के माध्यम से आना चाहते हैं तो आपको विदिशा जिला आना होगा |
  • वही विदिशा जिले से आपको माता जानकी का यह मंदिर 80 किलोमीटर दूरी पर स्थित है |
  • रंग पंचमी के दिन मेला आयोजन होने के उपरांत यहां संसाधनों की संख्या बढ़ जाती है |

गूगल मैप से देखें Karila Dham Ashok Nagar

आप चाहे तो करीला धाम मंदिर का सही लोकेशन गूगल मैप से प्राप्त कर सकते हैं | इसके लिए दिए हुए लिंक पर क्लिक करें | आप डायरेक्टली गूगल मैप की सहायता से माता जानकी के करीला धाम मंदिर अशोक नगर में पहुंच सकते हैं तथा जानकारियों को एकत्र भी कर सकते हैं |

Karila Mata Mandir 2022 – महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Karila Mata Mandir 2022Click Here
Nokia g80 5g priceClick Here
Facebook PageClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here
करीला मेला महोत्सव 2020 । Karila Mela 2020 । रंगपंचमी का सबसे बड़ा मेला | Kareela Mela Full Vlogs

FAQ:- Karila Mata Mandir 2022

क्या है करीला धाम मंदिर का इतिहास?

मान्यताओं के अनुसार मा सीता ने इस स्थान पर लव कुश को जन्म दिया था |

करीला माता मेला कब शुरू होता है ?

Karila Mata Mandir – करीला माता मेला रंग पंचमी के दिन शुरू होता है |

अशोकनगर जिले से करीला माता मंदिर कितने किलोमीटर दूर स्थित है ?

मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले से करीला माता मंदिर 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है|

करीला माता मंदिर मध्य प्रदेश के कौन से जिले में स्थित है ?

मध्य प्रदेश राज्य के अशोकनगर जिले में सीता माता का करीला मंदिर स्थित है |


मीडिया के क्षेत्र में करीब 4 साल का अनुभव प्राप्त है। Bharat24 न्यूज चैनल से करियर की शुरुआत की, जहां 1.5 साल डिजिटल मीडिया पर काम किया। इसके बाद फास्ट खबर चैनल में करीब 5 महीने इनपुट पर काम करने का अनुभव मिला। इसके बाद नेशनल इंडिया न्यूज में 1 साल Anchor cum Producer का अनुभव मिला है। अब ‘Gadgetupdatehindi.com’ वेबसाइट में अपनी सेवा दे रहे हैं। यहां गैजेट्स और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं। हमारा मकसद लोगों तक बेहतरीन स्टोरी पहुंचाना है।

Leave a Comment