“Sponsored Links”

Navratri 2023 Kab Se hai : नवरात्र पूजन विधि, शुभ मुहूर्त

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Navratri 2023 kab se hai : धार्मिक ग्रंथ है या हिंदू पंचांग के अनुसार इस वर्ष शारदीय नवरात्रि अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को आरंभ होता है | इस वर्ष नवरात्रि त्यौहार Sun, 15 Oct, 2023 से शुरू होगा | Shardiya Navratri शुरू होने के उपरांत 9 दिनों तक मां दुर्गा की प्रतिमा अपने घर में स्थापित किया जाता है | साथ ही साथ मां शेरावाली की अखंड ज्योति रखी जाती है | इस दौरान मां दुर्गा की पूजा विधि विधान से की जाती है |

Navratri 2023 Kab Se Hai

Navratri 2023 kab se hain

Navratri 2023 Date: हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी नवरात्रि 15 अक्टूबर ( Sun, 15 Oct, 2023 -Tue, 24 Oct, 2023 ) से शुरू होगा And समापन 24 अक्टूबर को होगा | हिंदू धर्म में नवरात्रि का बड़ा ही महत्व होता है | Navratri 2023 kab se hain, नवरात्रि इस पावन पर्व में मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है | हिंदू धर्म पंचांग के अनुसार अश्विनी मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को शारदीय नवरात्रि की शुरुआत हो रही है | जानते हैं नवरात्रि की घट स्थापना विधि क्या है?, और उसका शुभ मुहूर्त क्या बन रहा है |

“Sponsored Links”

Note:- नवरात्रि साल में 4 बार पड़ती है- माघ, चैत्र, आषाढ़ और आश्विन. आश्विन की नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि के नाम से जाना जाता है |

स्‍कंदमाता का ध्‍यान मंत्र

सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रित करद्वया।
शुभदास्तु सदा देवी स्कंद माता यशस्विनी॥

या देवी सर्वभू‍तेषु मां स्कंदमाता रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

नवरात्री 2023 – घटस्थापना, पूजा की विधि (Navratri 2023 kaslash sthapana vidhi)

घटस्थापना, अर्थात मिट्टी मिट्टी से बना घड़ा होता है | इस मिट्टी के घड़े को नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त के अनुसार स्थापित किया जाता है | वही इस घड़े को घर के ईशान कोण में स्थापित करना चाहिए | घट रखे हुए स्थान के नीचे बालू या थोड़ी सी मिट्टी डालें और उसमें जौ डालें | तत्पश्चात पूजा विधि शुरू करें | जिस जगह पर आप मिट्टी का घड़ा रख रहे हैं |

Navratri 2022 Kab Se Hain

Navratri 2023 kab se hain, उस जगह को गंगाजल से पवित्र करें | तत्पश्चात एक चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर रखें | फिर मां दुर्गा की तस्वीर या प्रतिमा स्थापित करें | अब एक तांबे के कलश में जल भरे तथा उसके ऊपरी भाग पर लाल मौली बांधे साथी साथ उस कलश में अक्षत, सिक्का, सुपारी का जोड़ा, दुर्वा घास डालें, तथा आम के पत्ते रखें ! उसके ऊपर नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर रखें ! कलश के आसपास फल मिठाइयां रख ले, फिर कलश स्थापना की पूरी करने के बाद मां दुर्गा की पूजा करें |

Navratri 2023 Ghatsthapna muhurat

Navratri 2023 kab se hain

  • आश्विन 15th अक्टूबर 2023: शुभ मुहूर्त 11:44 AM से 12:30 PM तक है
  • अवधि – 00 घण्टे 46 मिनट

देखें नवरात्रि का शुभ योग मुहूर्त (Navratri 2023 Shubh yog)

  • घटस्थापना, माता शैलपुत्री पूजा, अग्रसेन जयंती, सितम्बर 26, 2022
  • प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – 15th अक्टूबर 2023: शुभ मुहूर्त 11:44 AM से 12:30 PM तक

जाने नवरात्रि घटस्थापना सामग्री

Navratri 2023 kab se hain:- सिक्के, नारियल, पांच प्रकार के फल, चौकी पाट, कुश का आसन, हल्दी, कुमकुम, कपूर, जनेऊ, धूपबत्ती, निरांजन, आम के पत्ते, पूजा के पान, हार-फूल, पंचामृत, गुड़ खोपरा, खारीक, बादाम, सुपारी, नैवेद्य आदि.

देखें नवरात्रि की तिथि (Navratri 2023 kab se hain )

  1. प्रतिपदा (मां शैलपुत्री): 15 अक्टूबर 2023
  2. द्वितीया (मां ब्रह्मचारिणी): 16 अक्टूबर 2023
  3. तृतीया (मां चंद्रघंटा): 17 अक्टूबर 2023
  4. चतुर्थी (मां कुष्मांडा): 18 अक्टूबर 2023
  5. पंचमी (मां स्कंदमाता): 19 अक्टूबर 2023
  6. षष्ठी (मां कात्यायनी): 20 अक्टूबर 2023
  7. सप्तमी (मां कालरात्रि): 21 अक्टूबर 2023
  8. अष्टमी (मां महागौरी): 22 अक्टूबर 2023
  9. नवमी (मां सिद्धिदात्री): 23 अक्टूबर 2023
  10. दशमी (मां दुर्गा प्रतिमा विसर्जन): 24 अक्टूबर 2023

Navratri 2023 – नौ दिन की नौ देवी के नौ मंत्र

  1. माता शैलपुत्री : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं शैलपुत्र्यै नम:।
  2. माता ब्रह्मचारिणी : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं ब्रह्मचारिण्यै नम:।’
  3. माता चन्द्रघंटा : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चन्द्रघंटायै नम:।’
  4. माता कूष्मांडा : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कूष्मांडायै नम:।’
  5. माता स्कंदमाता : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं स्कंदमातायै नम:।’
  6. माता कात्यायनी : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कात्यायनायै नम:।’
  7. माता कालरात्रि : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कालरात्र्यै नम:।’
  8. माता महागौरी : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं महागौर्ये नम:।
  9. माता सिद्धिदात्री : मंत्र- ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं सिद्धिदात्यै नम:।‘ !! Navratri 2023 kab se hain !!
Shardiy Navratri 2022 pooja vidhi !!नवरात्रि में प्रथम दिन माता की स्थापना एवं पूजा की सम्पूर्ण विधि

मां दुर्गा के कौन-कौन से वाहन हैं?

अलग-अलग वार यानी दिन के अनुसार नवरात्रि में मां दुर्गा के वाहन डोली, नाव, घोड़ा, भैंसा, मनुष्य व हाथी होते हैं।

 – महत्वपूर्ण लिंक – Ghatasthapana 2023

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Ghatasthapana 2023Click Here
Navratri 2023 kab se hainClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
telegram webClick Here
Google NewsClick Here

(Disclaimer: यहां बताई गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. gadgetsupdateshindi.com इसकी पुष्टि नहीं करता है.)


मीडिया के क्षेत्र में करीब 4 साल का अनुभव प्राप्त है। Bharat24 न्यूज चैनल से करियर की शुरुआत की, जहां 1.5 साल डिजिटल मीडिया पर काम किया। इसके बाद फास्ट खबर चैनल में करीब 5 महीने इनपुट पर काम करने का अनुभव मिला। इसके बाद नेशनल इंडिया न्यूज में 1 साल Anchor cum Producer का अनुभव मिला है। अब ‘Gadgetupdatehindi.com’ वेबसाइट में अपनी सेवा दे रहे हैं। यहां गैजेट्स और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं। हमारा मकसद लोगों तक बेहतरीन स्टोरी पहुंचाना है।

Leave a Comment